WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Large cap and Mid cap Stocks की नई परिभाषा 2024

Large cap and Mid cap Stocks में शामिल होने के लिए अब शेयरों के मार्केट कैप की नई सीमा बनाई गई। म्युचुअल फंड्स के संगठन एम्फी ने शेयरों को नए सिरे से रिबैलेंस करने के प्रक्रिया के बाद वर्तमान सीमा को बढ़ा दी है।

Large cap and Mid cap Stocks के लिए दिसंबर 2023 में क्या सीमा निर्धारित की गई थी

दिसंबर 2023 में एम्फी द्वारा लार्ज कैप स्टॉक्स के लिए 67,000 करोड़ रुपए के मार्केट कैप की सीमा निर्धारित की थी जबकि 22,000 करोड़ रुपए वाले मार्केट कैप स्टॉक्स को मिड कैप की श्रेणी में रखा गया था। मगर इस बार मार्केट कैप की सीमा में 25% का इजाफा किया गया है।

NSE के स्टॉक्स किस-किस के पास हैं

Large cap and Mid cap Stocks के लिए नई सीमा क्या निर्धारित की गई है?

एम्फी ने Large cap and Mid cap Stocks के लिए नई सीमा बनाई है जिसके अनुसार कम से कम 84,323 करोड़ रुपए के मार्केट कैप वाले स्टॉक्स लार्ज कैप के अंतर्गत आयेंगे जबकि 27,564 करोड़ रुपए मार्केट कैप वाले स्टॉक्स मिड कैप स्टॉक्स की श्रेणी में आएंगे।

भारतीय स्टॉक मार्केट नित नए हाई बना रहा है। वर्ष 2021 से 2024 की प्रथम छमाही में मार्केट ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है।

जनवरी 2024 से जून 2024 तक निफ्टी 50, 19.5% बढ़ चुका है जबकि इस दौरान बीएसई सेंसेक्स में 9.4% की तेजी देखने को मिली है। इस दौरान बीएसई मिडकैप ने 25% और स्मॉलकैप ने 22% की तेजी दिखाई है।

ACME Solar IPO

Large cap and Mid cap Stocks की सूची में संशोधन कब-कब होता है?

6 महीनों के प्रदर्शन के आधार पर एम्फी Large cap and Mid cap Stocks के साथ Small cap Stocks की सूची में बदलाव करती है। सेबी के नियमों के अनुसार मार्केट कैप के दृष्टि से टॉप 100 कंपनियां Large cap की श्रेणी में आती हैं। इसके बाद मार्केट कैप के हिसाब से नेक्स्ट 101 से 250 नंबर तक की कंपनियां Mid cap के दायरे में आती हैं जबकि इससे नीचे वाली कंपनियां Small cap के अंतर्गत वर्गीकृत की जाती हैं।

Large cap and Mid cap Stocks को मार्केट कैप के आधार पर कब से अलग किया गया

SEBI ने यह नियम वर्ष 2017 से लागू किया था। उस समय 29,000 करोड़ रुपए मार्केट कैप वाले स्टॉक्स को Large cap के अंतर्गत रखा गया था जबकि Mid cap वाले स्टॉक्स के लिए 8,500 करोड़ रुपए का मार्केट कैप तय किया गया था।

परफॉर्मेंस के बल पर कौन से Mid cap स्टॉक Large cap में शामिल हुए

हाल में ही मिड कैप स्टॉक में तेजी देखने को मिली। अपने प्रदर्शन के बल पर 7 Mid cap स्टॉक्स Large cap की कैटेगरी में शामिल किए गए जिनके नाम निम्नलिखित हैं:

  • हीरो मोटोकॉर्प
  • जायडस लाइफसाइंसेज
  • जेएसडब्ल्यू एनर्जी
  • एनएचपीसी
  • बीएचईएल
  • संवर्द्धन मदरसन इंटरनैशनल
  • बॉश

जिन शेयरों ने इनके लिए रास्ता बनाया उनकी लिस्ट निम्नलिखित है:

  • पॉलीकैब इंडिया
  • आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल लाइफ इंश्योरेंस
  • आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस
  • एसआरएफ
  • मैरिको
  • एसबीआई कार्ड
  • बर्जर पेंट्स

करीब 19 शेयर मिडकैप में शामिल हुए हैं, जिनमें नई सूचीबद्ध कंपनियां भारती हेक्साकॉम और गो डिजिट जनरल इंश्योरेंस शामिल हैं।

Upcoming Results Calendar July 2024

Small cap से Mid cap में शामिल हुए शेयर

  • केपीआर मिल्स
  • टाटा केमिकल्स
  • नारायणा ह्वदयालय
  • सन टीवी नेटवर्क

शेयरों में फेरबदल से इन शेयरों का प्रबंधन करने वाले म्युचुअल फंड्स मैनेजरों को अपनी होल्डिंग में भी बदलाव करना होगा। आम तौर पर बाजार में तेजी की वजह से शेयर मिड कैप से लार्ज कैप में और स्मॉल कैप से मिड कैप में पहुंचते हैं और प्रत्येक 6 माह में इनका पुन: मूल्यांकन कर आवश्यकता अनुसार रिबैलेंस किया जाता है।

उम्मीद करता हूं की यह आर्टिकल आपके लिए मददगार साबित होगा, कृपया इसे अपने मित्रों, के साथ अवश्य शेयर करें। आर्टिकल पूरा पढ़ने और अपना कीमती समय देने के लिए धन्यवाद!

डिस्क्लेमर: स्टॉक मार्केट में निवेश बाजार जोखिमों के अधीन हैं। कृपया निवेश करने से पहले अपने वित्तीय सलाहकार से परामर्श अवश्य लें।

यह भी पढ़ें

Leave a Comment

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now