WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

बाजार की रैली में LIC ने काटी चांदी, शेयर बेंच कर कमाया मुनाफा फिर भी हिस्सेदारी का मूल्य बढ़ा 2024

आज के अपने इस आर्टिकल में मैं उस सरकारी कंपनी के बारे में चर्चा कर रहा हूं जिसके नाम से भारत का हर वयस्क परिचित होगा और आज भी भारत के ग्रामीण क्षेत्र और अर्ध शहरी क्षेत्रों में जीवन बीमा का एक मात्र पर्याय और विश्वशनीय विकल्प बना हुआ है।

सभी को मालूम ही है कि LIC जीवन बीमा प्रदाता के साथ ही भारतीय शेयर बाजार का एक बड़ा निवेशक भी है। आज इस लेख में LIC की उसी भूमिका की चर्चा करेंगे की किस प्रकार LIC भारत में सबसे बड़ा घरेलू संस्थागत निवेशक है (DII)

NIL ITR: Income Tax Limit से कम है तो फाइल करें

दशकों से LIC को सरकार का तारणहार समझा जाता है जब कोई सरकारी इश्यू पूरा नहीं भर पाता था तो सरकार LIC से उसे भरने को कहती थी (FPO हो या IPO या कोई विनिवेश) इस तरह से कई बार LIC ने उन कंपनी में हिस्सेदारी खरीदी जो सरकार किसी अन्य को नही बेंच पाई, IDBI BANK इसका ताजा उदाहरण है।

LIC का VEDANTA की DELISTING को असफल करना

यह एक महत्वपूर्ण घटना थी जब Small Investor के रूप में LIC ने VEDANTA के डीलिस्टिंग ऑफर के विरोध में मत देकर डीलिस्टिंग प्रयास को असफल किया था। आज वेदांता अपने ऑफर प्राइस से लगभग तीन गुने मूल्य पर ट्रेड कर रहा है। हाल फिलहाल में यह एलआईसी का ऐसा निर्णय रहा जिसकी सभी ने प्रशंशा की।

ताजा बाजार की तेजी का LIC ने कैसे उठाया फायदा

कारोबारी समूहजून 23 में हिस्सेदारीमूल्य करोड़ मेंमार्च 24 में हिस्सेदारीमूल्य करोड़ में
रिलायंस6.37%1,11,9986.19%1,50,249
टाटा4.22%97,5484.05%1,29,622
अदानी4.27%43,1603.76%64,414
भारती4.11%23,5513.72%39,241
बिरला av4.86%25,6634.03%31,943
JSW7.31%17,7005.35%23,891

उपरोक्त सारणी से स्पष्ट है कि एलआईसी ने देश के प्रमुख औद्योगिक घरानों के शेयर में अपनी हिस्सेदारी घटाई है परंतु इसके बाद भी उसकी हिस्सेदारी का मूल्य बढ़ा है। ऐसा उसके निवेशित शेयर में पिछले एक वर्ष में आई बड़ी तेजी के कारण ही संभव हो पाया है।

मार्केट की इस तूफानी तेजी में एलआईसी ने अपने निवेश में बड़ा पैसा बनाया है क्योंकि PSU शेयरों में एक मेगा रैली आई है और एलआईसी का इनमे ठीक-ठाक निवेश है।

LIC ने पिछले साल लगभग 80 शेयर में अपनी हिस्सेदारी घटाई है जिसमे मुख्यतया कई PSB (PUBLIC SECTOR BANK) और PSU शामिल हैं (कुल 16) इनमें मुख्य रूप से BHEL, SAIL, COAL INDIA, OIL,MOIL, SBI, HPCL, NMDC, CONCOR, ONGC, NTPC शामिल हैं। ऐसा एलआईसी ने अपने पोर्टफोलियो के साइज के 14 लाख करोड़ पहुंचने पर किया। उसके पोर्टफोलियो में इस कैलेंडर वर्ष में 1.6 लाख करोड़ की वृद्धि हुई है।

PATANJALI FOOD New Deal: निवेशकों के लिए अच्छा या बुरा

इतने बंपर मुनाफे पर एलआईसी ने एक समझदार निवेशक के रूप कुछ प्रॉफिट बुक किया है जो लाज़मी था।

शेयर जिसमे LIC ने हिस्सेदारी बढ़ाई है

LIC ने कुछ शेयर में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाई भी है जैसे NAVIN FLUORINE, BATA, SWAN ENERGY, INFY, KOTAK BANK, ASIAN PAINT इसके अतरिक्त कुछ PSU में भी अपनी हिस्सेदारी बढ़ाई है जैसे SJVN, NHPC, IRCTC, POWER GRID

LIC के हिस्सेदारी संबंधी सभी आंकड़े ACE EQUITY की रिपोर्ट से लिए गए हैं जिनका बिजनेस स्टैंडर्ड के एक लेख में उल्लेख है।

PSU में निवेश हो या अदानी ग्रुप में निवेश इनके लिए LIC को काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा है परंतु मार्केट की तूफानी रैली ने उस निवेश को सही साबित कर दिया।

उम्मीद करता हूं की यह आर्टिकल आपके लिए मददगार साबित होगा, कृपया इसे अपने मित्रों, के साथ अवश्य शेयर करें। आर्टिकल पूरा पढ़ने और अपना कीमती समय देने के लिए धन्यवाद!

यह भी पढ़ें

Leave a Comment

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now