WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

5 ट्रिलियन डॉलर पर पहुंचा भारत का मार्केट कैप मात्र 6 माह में !

भारत का मार्केट कैप 5 ट्रिलियन डॉलर: 21 मई 2024 का दिन भारतीय शेयर बाजार में ऐतिहासिक रहा क्योंकि इस दिन भारत का मार्केट कैप यानी बाजार पंजीकरण 5 लाख करोड़ डॉलर के स्तर को छू गया। घरेलू शेयर बाजार ने शानदार उपलब्धि हासिल करते हुए 6 महीने से कम समय में बाजार पंजीकरण में एक लाख करोड रुपए और जोड़े हैं। इस उपलब्धि के बाद भारत; अमेरिका, चीन और जापान जैसे 5 लाख करोड़ डॉलर मार्केट कैप वाले दुनिया के चुनिंदा बाजारों में शामिल हो गया है।

भारत का मार्केट कैप 5 ट्रिलियन डॉलर

कब कितना हुआ भारत का मार्केट कैप

1 लाख करोड़ डॉलर29 मई 2007
2 लाख करोड़ डॉलर07 दिसंबर 2017
3 लाख करोड़ डॉलर25 मई 2021
4 लाख करोड़ डॉलर29 नवंबर 2023
5 लाख करोड़ डॉलर21 मई 2024
भारत का मार्केट कैप

मार्केट बंद होने पर भारत का बाजार पूंजीकरण कितना रहा

स्टॉक मार्केट बंद होने पर मुंबई स्टॉक एक्सचेंज यानी कि बीएससी पर सूचीबद्ध सभी कंपनियों का कुल बाजार मूल्य 4.97 लाख करोड़ डॉलर रहा जबकि एनएससी यानी नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर सभी कंपनियों का बाजार कोजीकरण 4.93 लाख करोड़ डॉलर के करीब रिकॉर्ड किया गया। इस अंतर का कारण यह है की एनएससी पर सभी कंपनियां सूचीबद्ध नहीं है।

Notes feature Zerodha Kite Web

मार्केट कैप बाई जीडीपी

बहुत से वैल्यू इन्वेस्टर मार्केट कैप बाई जीडीपी का प्रयोग मार्केट सस्ती है या महंगी है यह जानने के लिए करते हैं। अगर मार्केट कैप बाई जीडीपी एक होती है तो यह कहा जा सकता है की मार्केट ना तो महंगी है ना तो सस्ती है। यदि मार्केट कैप बाई जीडीपी एक से कम होती है तो यह कहा जाता है की मार्केट सस्ती है और निवेश का यह उपयुक्त समय है। वर्तमान समय की बात करें तो मार्केट कैप बाई जीडीपी 1.54 हो गई है जो की मार्केट के महंगे होने की ओर इशारा करती है। वर्त्तमान समय में निवेशकों को सावधानी पूर्वक निवेश करना चाहिए।

भारत का बाजार पूंजीकरण क्यों बढ़ा

पिछले कुछ समय से स्मॉल कैप एवं मिड कैप शेयरों ने शानदार प्रदर्शन किया जिससे बाजार पंजीकरण को बढ़ने में मदद मिली है साथ ही हाल के वर्षों में कई बड़ी कंपनियों की लिस्टिंग ने भी बाजार पंजीकरण की रफ्तार को बढ़ाने में मदद की है। उदाहरण के लिए एलआईसी यानी भारतीय जीवन बीमा निगम लिमिटेड इत्यादि।

निष्कर्ष

भारत के बाजार पंजीकरण ने वैश्विक स्तर पर उसकी साख को मजबूत किया है। इसके फलस्वरुप ईटीएफ के जरिए विदेशी निवेशकों से ज्यादा निवेश हासिल करने में मदद मिलेगी। भारत अब MSCI EM इंडेक्स (MSCI Emerging Markets Index) में चीन के बाद दूसरा सबसे बड़ा बाजार है। इस इंडेक्स में भारत का वेटेज 19% हो चुका है जो वर्ष 2018 मात्र 8.2% था

Zerodha Account Opening Charges

Author

  • Varun Singh

    नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम वरुण सिंह है। मैं एक यूटूबर, ब्लॉगर और डिजिटल कंटेंट क्रिएटर हूं। मुझे अपने खाली समय में ब्लॉग लिखना और वीडियो बनाना बेहद पसंद हैं। मेरा उद्देश्य है की पाठकों को हिंदी में सरल, शुद्ध और जल्दी जानकारियां मिल सकें, खास कर फाइनेंस, बिजनेस, बैंकिंग, स्टॉक मार्केट आदि वित्त जगत से जुड़ी खबरे, अपडेट्स और इन्हीं विषयों से जुड़ी समस्याओं को ध्यान में रख कर इस वेबसाइट का निर्माण किया गया है।

    View all posts

1 thought on “5 ट्रिलियन डॉलर पर पहुंचा भारत का मार्केट कैप मात्र 6 माह में !”

Leave a Comment

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now